Gagron Fort History In Hindi – गागरोन दुर्ग की जानकारी

By | June 7, 2020

गागरोन दुर्ग का निर्माण किसने करवाया था ?

Gagron Fort History In Hindi- गागरोन दुर्ग की जानकारी,  गागरोन दुर्ग का निर्माण डोड राजा बीजलदेव ने करवाया था गागरोन दुर्ग राजस्थान के झालावाड़ जिले में स्थित है।  यह किला एक सुदृढ़ चट्टान पर काली सिन्ध और आहू नदियों के संगम पर बना यह क़िला जल-दुर्ग की श्रेणी में आता है।

गागरोन दुर्ग हिन्दू-मुस्लिम एकता का प्रतीक है। इस गागरोन दुर्ग की नीव सातवीं सदी में रखी गई थी और चौदहवीं सदी तक इसका निर्माण पूरा हो गया था।

गागरोन दुर्ग का नाम गागरोन केसे रखा

Gagron Fort History In Hindi 12वीं शताब्दी के करीब गागरोण के खींची चौहानों का संस्थापक देवनसिंह था, जिसने बीजलदेव नामक डोड शासक को मारकर धूलरगढ़ पर अधिकार कर लिया तथा उसका नाम गागरोण रखा।

गागरोन दुर्ग का इतिहास – गागरोन दुर्ग की रोचक बातें

Gagron Fort History In Hindi - गागरोन दुर्ग की जानकारी

Gagron Fort History In Hindi – गागरोन दुर्ग की जानकारी

Gagron Fort गागरोन दुर्ग चारों ओर से ऊंची प्राचीरों से घिरा हुआ है, गागरोन का किला दो तरफ से नदी एक तरफ से खाई और एक तरफ से पहाड़ी से घिरा हुआ है ।

गागरोन का किला मे 92 मंदिर है, और सौ साल का पंचांग भी यही बना था।

डोडा राजपूतों के अधिकार के कारण यह दुर्ग डोडगढ/ धूलरगढ़ नामों से जाना गया।

यहां हर वर्ष तीन दिवसीय उर्स मेला भी लगता है।

यहाँ सूफ़ी संत मीठे शाह की दरगाह भी है।

21 जून, 2013 को यूनेस्को ने इस दुर्ग को विश्व धरोहर सूची में शामिल किया। 

डोड राजा बीजलदेव के नाम पर इस दुर्ग को डोडगढ़ या धूलरगढ़ भी कहा जाता है ।

किले के प्रवेश द्वार के निकट ही सूफी संत ख्वाजा हमीनुद्दीन चिश्ती की दरगाह भी बनी हुई है।

सन 1303 मे गागरोण पर दिल्ली के सुल्तान अलाउद्दीन खिलजी ने आक्रमण किया तब उस समय गागरोण के शासक जैतसिंह, जिसने खिलजी का सफलतापूर्वक मुकाबला किया।

गागरोण दुर्ग पर सन् 1423 ई. में होशंगशाह ने आक्रमण कर जीत लिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *