Agra History in Hindi । प्रसिद्ध आगरा शहर का इतिहास

By | May 18, 2020

agra history in hindi , Agra Shahar, history of agra in hindi, aagra city,agra ki rajdhani, agra hindi, भारत में सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक है। और आगरा शहर की सुंदरता को देखने के लिए लोग यहा पर आते है ।

वैसे तो आगरा का इतिहास कई सालों पुराना माना जाता है, पर आज भी आगरा उतना ही सुंदर है जितना की इसकी स्थापना के समय था।

प्रसिद्ध आगरा शहर का इतिहास । Agra History in Hindi

प्रसिद्ध आगरा शहर का इतिहास । Agra History in Hindi

आगरा शहर भारत के उत्तर प्रदेश राज्य मे स्थापित है, [agra uttar pradesh] और यह एक प्रसिद्ध शहर है। उत्तर प्रदेश में यह यमुना नदी के किनारे बसा हुआ शहर है। देश की राजधानी दिल्ली से आगरा शहर लगभग 206 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है आगरा शहर उत्तर प्रदेश राज्य का चौथा बड़ा शहर है और यहां पर जनसंख्या भी बहुत अधिक है।

agra history in hindi आगरा शहर अपने आप में तब आया जब शाहजहाँ मुग़ल साम्राज्य की गद्दी पर और जब उन्होंने अपनी प्यारी पत्नी मुमताज महल की याद में ताजमहल का निर्माण किया।

आगरा शहर और मुगल साम्राज्य

आगरा शहर  की विरासत मुगल वंश से जुड़ी हुई है, कई अन्य शासकों ने भी इस शहर के समृद्ध अतीत में योगदान दिया।

इस सुंदर शहर की स्थापना सिंकन्दर लोदी द्वारा 1506 मे की गयी थी। आगरा पहले दिल्ली की राजधानी हुआ करता था।

सिंकन्दर लोदी ने 1506 मे दिल्ली से अपनी राजधानी आगरा मे परिवर्तित कर दिया था। मुगल साम्राज्य बाबर ने अपने बेटे को आगरा भेजा, उसके बेटे ने बादलगढ़ किले पर अपना कब्जा कर लिया। उस किले से उनको खजाना मिला था उस खजाने मे उनको विश्व प्रसिद्ध कोहिनूर हीरा भी मिला था।  

सन 1558 मे अकबर जब आगरा गए तो उन्होने आगरा को अपनी राजधानी बनाया अकबर ने बादलगढ़ किले को राजस्थान के लाल बलुआ पत्थरो से पुनर्निमित करवाया। इस काम को करवाने मे 8 साल का समय लगा।

Agra Shahar में ताजमहल, आगरे का किला, फतेहपुर सीकरी, आदि स्थल पर्यटक की दृष्टि से विश्व प्रसिद्ध है।

आगरा शहर दिल्ली और जयपुर के साथ ही गोल्डन ट्रायंगल टूरिस्ट सर्किल में शामिल है। सांस्कृतिक दृष्टि से देखा जाए तो आगरा ब्रज क्षेत्र में स्थित है आगरा शहर यमुना एक्सप्रेसवे के माध्यम से दिल्ली से और आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे के माध्यम से लखनऊ से भी जुड़ा हुआ है।

महाभारत काल में आगरा का जिक्र

आगरा शहर का संबंध महर्षि अंगिरा से भी माना जाता है महाभारत काल में भी आगरा का जिक्र किया गया है। महाभारत काल में आगरा को अग्रवल के नाम से भी जाना जाता था।

वैसे तो आगरा शहर को सिकंदर लोदी ने 1506 में बताया था वह सिकंदर लोदी की प्रिय जगह थी, सन 1526 से 1558 तक आगरा शहर मुगल साम्राज्य की राजधानी थी।

agra शहर के पर्यटन स्थल

आगरा का किला

आगरा का किला विश्व प्रसिद्ध है पूरे विश्व से लोग यहां पर इसे देखने आते हैं। यह शहर के बीचो बीच में बनाया गया है, बाद में इस किले का थोड़ा काम शाहजहा द्वारा भी करवाया गया था।

इसमें लाल बलुआ पत्थरों का प्रयोग किया गया था, किले की जो मुख्य ईमारते हैं वह हैं मोती मस्जिद, दीवाने खास, दीवाने आम, जहांगीर महल, शीश महल, मुसम्मन बुर्ज आदि मुगलों के सम्राट अकबर ने 1565 में इस किले को बनवाया था उसके बाद शाहजहां ने इसका निर्माण और तेजी से करवाया था।

यह किला अर्धचंद्राकार लिए हुए हैं इसके पास की दीवार नदी की ओर है इस किले की पूरी परिधि 2.4 किलोमीटर है। यह किलेनुमा चारदीवारी से गिरी हुई है। किस किले की दीवार पर रक्षा छतरियां बनी हुई है।

शिवाजी एक बार आगरा में 1966 में पुरंदर की संधि हेतु वहां गए थे उनकी याद में वहां पर एक मूर्ति भी स्थापित की गई है।

फतेहपुर सीकरी

मुगलों ने फतेहपुर सीकरी का भी निर्माण करवाया था। अकबर ने फतेहपुर सीकरी का निर्माण करवाया और यह आगरा से 35 किलोमीटर दूर स्थित है। यहां पर कई इमारतों का निर्माण करवाया गया है।

अकबर ने एक बार अपनी राजधानी फतेहपुर सीकरी को बनाया था उसके बाद में पानी की कमी के चलते हुए उन्होंने अपनी राजधानी वापस आगरा को स्थापित कर लिया।

बुलंद दरवाजा

उन्होंने एक बुलंद दरवाजा का निर्माण करवाया जो विश्व पर्यटन की दृष्टि से बहुत ही प्रसिद्ध है। बुलंद दरवाजा को मुगलों का द्वार बताया गया, बुलंद दरवाजा सबसे ऊंचा दरवाजा है इसकी ऊंचाई 53 मीटर और चौड़ाई 35 मीटर है।

यह दरवाजा लाल और शौकीन बलवा पत्थर से बना हुआ है। इसे सफेद संगमरमर द्वारा सजाया गया है इसकी शिलालेखों पर धार्मिक बातों की ओर ध्यान जाता है।

ताजमहल

ताजमहल विश्व के सभी अजूबों में से अपना एक स्थान रखता है। विश्व के सात अजूबों में ताजमहल को गिना जाता है।

यह बहुत ही खूबसूरत महल है इसका निर्माण शाहजहां ने अपनी पत्नी मुमताज की याद में बनवाया था। ताजमहल सफेद संगमरमर से बनाया गया है और यह यमुना नदी के किनारे स्थित है। विदेशों से लोग ताजमहल को देखने आते हैं। अपनी खूबसूरती के कारण ताजमहल सभी लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर लेता है।

जामा मस्जिद

जामा मस्जिद का निर्माण शाहजहां की बेटी जोहरा बेगम ने एक प्रसिद्ध सूफी संत शेख सलीम चिश्ती की याद में सन 1648 ईसवी में जामा मस्जिद का निर्माण करवाया था यह मस्जिद भी विश्व में काफी प्रसिद्ध है।

मुगलो के पतन के बाद मे आगरा पर मराठो का अधिकार हुआ और उसके बाद मे सन 1803 मे आगरा अंग्रेज़ो के हाथो मे चला गया।

सन 1835 मे अंग्रेज़ो द्वारा आगरा की प्रेसीडेंसी स्थापना की गई। आगरा अब सरकार की सीट बन चुकी थी और मात्र दो सालो मे ही आगरा अकाल का साक्षी बन चुका था।

1947 मे जब बिर्टिश सत्ता का भारत से पतन हुआ तो इसके साथ ही आगरा अब आजाद हो चुका था। वह अब आजाद भारत का अंग बन गया था।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *